July 2017
M T W T F S S
« May    
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31  





self help piles

सेल्फ हेल्प : पाइल्स से छुटकारा पाने वाले एक व्यक्ति की सक्सेस स्टोरी

मैं इलाज से थक चुका था. मैंने डॉक्टर की बतायी सभी सावधानियां बरतीं और दवाएं भी लीं मगर कोई सुधार नजर नहीं आया. दोपहर कम ही खूबसूरत होती है. उस दिन अचानक मुझे एक उपाय सूझी. मुझे अपने बचपन का वाकया याद आया. जब हमलोग बच्चे थे

vomiting

जी मिचलने या उल्टी होने पर Ipecac के अलावा भी कई दवाएं काम की हैं

कुछ तकलीफें ऐसी होती हैं जो किसी खास मौसम की मोहताज नहीं होतीं. हर मौसम उनके लिए सदाबहार होता है. मिचली और उल्टी ऐसी ही तकलीफ है जो कभी भी किसी को परेशान कर सकती है. बाकियों के मुकाबले ये गर्मियों में ज्यादा मुश्किलें खड़े करती है.

nux-vom-30

हर्निया के ज्यादातर मामलों में Nux Vomica और Sulphur बेहद कारगर हैं

हर्निया के ज्यादातर मामलों में Nux Vomica और Sulphur से ही फायदा देखने को मिलता है. जरूरत पड़ने पर दोनों दवाएं लोअर पोटेंसी में एक साथ भी चलाई जा सकती हैं. जब Nux Vomica की लोअर पोटेंसी का असर दिखे तो धीरे धीरे उसे बढ़ाया जा सकता है.

giddiness_700

चक्कर आने की कई वजहें हैं, ये होम्योपैथिक दवाएं ली जा सकती है

कई बार इसकी वजह कमजोरी होती है तो कभी पेट की गड़बड़ी भी हो सकती है. उल्टी और दस्त होने के बाद भी चक्कर आ सकता है – और वैसी स्थिति में ध्यान देने की जरूरत होती है. ऐसा होने पर सबसे पहले तो पानी और उसके बाद नींबू, नमक और चीनी का घोल लिया जा सकता है.

staphysagria

Staphysagria के बारे में कितना जानते हैं आप – जानिए 5 खास बातें

हम आपको बता रहे हैं होम्योपैथ की ऐसी दवा के बारे में जो बहुत प्रचलित नहीं है – Staphisagria. वैसे तो Staphisagria यौनेच्छा और कामुक ख्यालों जैसी मानसिक स्थितियों में काफी कारगर पायी जाती है लेकिन इमरजेंसी में भी बड़े काम की दवा है.

homoeopathic pills

FAQ: होम्योपैथिक दवाएं कैसे लेनी चाहिये – कितनी गोली, कितने बूंद और कितनी बार?

दो बूंद जिंदगी के – ये लाइन तो हर किसी के मन में अपने आप आ जाती है. होम्योपैथी में ये प्रैक्टिस इसकी शुरुआत से ही है. अक्सर देखा जाता है कि डॉक्टर मरीज की जीभ पर दवा की दो बूंद डाल देते हैं.

bryonia alba hahnemann cafe

Bryonia के बारे में कितना जानते हैं आप – जानिए 5 खास बातें

हम बात कर रहे हैं होम्योपैथ की उस दवा के बारे में जिसका नाम ज्यादातर लोगों को मालूम होता है – Bryonia Alba. आम तौर पर Bryonia बदन में दर्द, बुखार और गठिया जैसी तकलीफों में इस्तेमाल की जाती है – लेकिन उससे इतर भी ये दवा काफी उपयोगी साबित होती है.

faq homoeopathy

सेक्स समस्याएं – शीघ्रपतन से छुटकारा पाने के लिए ये 3 दवाएं काफी हैं

शीघ्रपतन [Premature Ejaculation] वैसे तो कोई बीमारी नहीं है, लेकिन परेशानी बहुत बड़ी है. इसे बीमारी की बजाय उसके पहले की अवस्था के तौर पर समझा जा सकता है.

homoeopathic hindi boooks

हिंदी में होम्योपैथी को समझने के लिए ये 2 किताबें पर्याप्त हैं

यहां हम सिर्फ दो किताबों का जिक्र करेंगे. ये दोनों ही किताबें होम्योपैथी के फंडामेंटल को समझाती हैं और प्रामाणिक ग्रंथ भी हैं. इनमें से एक तो खुद होम्योपैथी के संस्थापक डॉ. सैमुअल हैनिमन ने लिखा है – और दूसरी होम्योपैथी के अपने जमाने के बहुत बड़े एक्सपर्ट एच सी एलन ने.

hangover and homoeopathy

5 मिनट में हैंगओवर से उबारने में कारगर 5 होम्योपैथिक दवाएं

कोशिश तो यही होनी चाहिये कि न ड्रिंक किया जाये और न हैंगओवर की नौबत आये. फिर भी कभी पार्टी में या मौका विशेष के चलते ड्रिंक से बच नहीं पाये और फिर हैंगओवर हो जाये तो होम्योपैथिक दवाओं का इस्तेमाल किया जा सकता है, शर्त एक ही है – डॉक्टर से पूछ कर.

aconite nap

बीमारियों के खिलाफ होम्योपैथी का FIR है एकोनाइट

मशहूर होम्योपैथ एच सी एलेन लिखते हैं – रोगी को पक्का यकीन हो जाता है कि उसकी बीमारी जानलेवा साबित होगी. अपनी मौत की तारीख तक की भविष्यवाणी कर देता है.

homoeopathic books

होम्योपैथी को समझना चाहते हैं तो ये 5 किताबें जरूर पढ़ें

अगर आप होम्योपैथी का अध्ययन करना चाहते हैं तो हैनिमन कैफे की सलाह है कि वे किताबें पढ़ें जिनमें प्रामाणिक जानकारी हो. होम्योपैथी के आविष्कारक डॉ. सैमुअल हैनिमन के अलावा भी कई एक्सपर्ट ने ऐसी किताबें लिखी हैं.

NUX VOMICA

नक्स वोमिका के बारे में कितना जानते हैं आप – जानिए 5 खास बातें

नक्स वोमिका के रोगी स्वभाव से चिड़चिड़े होते हैं और धैर्य तो उनमें न के बराबर होता है. ऐसे लोगों को बहुत जल्दी गुस्सा आता है और लोगों के प्रति वे घृणा भाव रखते हैं.

Belladonna and Sulphur

आंखों की बिलनी से निजात दिलानेवाली ये हैं तीन दवाएं

अगर आंखों को वे अपना कार्यक्षेत्र बना लें फिर तो नींद ही नहीं जीना हराम कर देते हैं.
पलकों पर होने वाली ऐसी ही फुंसियों को बिलनी, गुहेरी या गुहाज्जनी भी कहते हैं. इनकी हर अवस्था बड़ी कष्टकारी होती है – जब निकल आएं, उनमें पस भर आए या फिर फूट कर पस बहने लगे.

NUX VOMICA

FAQ – 014 : होम्योपैथिक दवाएं कुछ खाने के बाद लेनी चाहिए या बिलकुल खाली पेट?

पेट की बीमारियों में कुछ दवाएं खाने के पहले और बाद में लेना ठीक होता है. ऐसा करने का फायदा ये होता है कि पहले दवा लेकर तकलीफ से बचा जा सकता है और बाद में फौरन आराम मिल जाता है.

केस स्टडी: जल जाने पर इलाज के लिए Urtica Urens से बेहतर कोई दवा नहीं

एक शाम की बात है. सुलभा घर पर अकेली थीं. उन्होंने चाय बनाई और टीवी के सामने सोफे पर जहां वो हमेशा बैठा करतीं, बैठ गईं. कप साफ नहीं थे इसलिए उस दिन चाय उन्होंने प्लास्टिक के डिस्पोजेबल ग्लास में ली थी. जैसे ही चाय पीने को हुईं पूरा ग्लास पलट कर उनके ऊपर गिर गया. चाय बहुत ही गर्म थी. ग्लास में डाले एक मिनट भी नहीं हुए होंगे.

NUX VOMICA

एसिडिटी, बदहजमी और पेट में गैस बने तो ये हैं 5 कारगर दवाएं

पेट में एसिडिटी, खट्टी डकारें और गैस बनना – ये सब अमूमन खान पान की गड़बड़ी से होते हैं. कई इनकी वजह मानसिक तनाव भी होता है. ऐसे में तनाव दूर करने के उपायों के साथ साथ अगर खान पान पर थोड़ा ध्यान रखा जाए तो एसिडिटी और ऐसी परेशानियों से बचा जा सकता है.

Fever_700

इन 5 दवाओं की जरूरत किसी को भी कभी भी पड़ सकती है

कई छोटी मोटी तकलीफें हमें अक्सर परेशान करती रहती हैं. ऐसी तकलीफें कभी भी किसी को भी हो सकती हैं. यहां हम ऐसी दवाओं के बारे में बता रहे हैं जिन्हें आप अपने डॉक्टर की सलाह से पास में रख सकते हैं और जरूरत पड़ने पर इनका इस्तेमाल कर सकते हैं.
ये बॉयोकेमिक दवाएं हैं और इन्हें गुनगुने पानी के साथ लेना ठीक रहता है.

youth and vigour

खोई हुई ताकत और जवानी पाने के लिए ये 6 दवाएं बड़े काम की हैं

यहां हम ऐसी ही कुछ दवाएं बता रहे हैं जो कमियों को दूर हमारे शरीर को तंदुरूस्त बनाती हैं. अपने डॉक्टर की सलाह से आप इन्हें जरूरत के हिसाब से ले सकते हैं.

पेट को दुरूस्त रखने के लिए इन 6 दवाओं के बारे में जरूर जानना चाहिए

पेट का सीधा संबंध हमारे दिमाग से होता है. यानी, पेट खराब तो दिमाग खराब. दिमाग खराब तो पेट खराब. अगर देखा जाए तो हमारे दिमाग और पेट में बड़ा ही नाजुक और करीबी रिश्ता है और नियमित रूप से ये उसे निभाते भी हैं.

# खोई हुई ताकत और जवानी पाने के लिए ये 6 दवाएं बड़े काम की हैं

माना जाता है कि पेट की 90 फीसदी बीमारियों का हमारे मस्तिष्क से सीधा कनेक्शन है.


%d bloggers like this: