FAQ – 003 : होम्योपैथी की दवा लिक्विड में लेना ठीक रहता है या गोली में?

# होम्योपैथिक दवा चाहे गोली में ली जाए या लिक्विड में दोनों में से किसी भी तरीके से लेने से कोई फर्क नहीं पड़ता. गोली पूरी तरह सूख भी गई हो तो कुछ दिन तक उसमें दवा का असर रहता है.
गोली में दवा का असर लंबे समय तक बना रहे इसलिए उसे ऐसी जगह रखें जहां सीधी धूप न आती हो – और किसी तरह की कोई सुगंधित चीज न हो.
मीठी गोलियों का एक और फायदा होता है कि बच्चे इसे आसानी से खाल लेते हैं – दवा खिलाने के लिए बच्चों को अलग से तैयार नहीं करना पड़ता.

चेतावनी/CAUTION: कृपया योग्य डॉक्टर की सलाह के बगैर कोई दवा न लें. ऐसा करना सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है.

  • होम्योपैथी को लेकर लेटेस्ट पोस्ट से अपडेट रहने के लिए #हैनिमन कैफे के फेसबुक पेज को लाइक करें. ट्विटर के जरिये लेटेस्ट अपडेट के लिए @HahnemannCafé को फॉलो करें.
  • अगर आपको लगता है कि यहां दी गई जानकारी आपके किसी रिश्तेदार, मित्र या परिचित के काम आ सकती है तो उनसे जरूर शेयर करें.
  • अपने सुझाव, सलाह या कोई और जानकारी/फीडबैक देने के लिए हमारा CONTACT पेज विजिट करें.

    यह भी पढ़ें:http://hahnemanncafe.in/209/faq-002-what-symptoms-mean-in-homoeopathic-treatment