# आमतौर पर होम्योपैथिक डॉक्टर इसके लिए सीधे सीधे ‘हां’ कह देते हैं. यूं ही देखें तो इसमें कोई बुराई नहीं है. मगर, गंभीरता से विचार करें तो इसे पूरी तरह सही नहीं ठहराया जा सकता.

होम्योपैथी में डॉक्टर हैनिमन ने जितनी दवाएं तैयार की मामला उससे ज्यादा आगे नहीं बढ़ा. उनके आस पास के होम्योपैथवालों ने जरूर कुछ दवाएं तैयार की लेकिन बाद में तो इसमें नाम मात्र का ही इजाफा हुआ. अगर कुछ प्रयोग हुए तो उससे होम्योपैथी को जितना फायदा नहीं हुआ उससे कहीं ज्यादा नुकसान ही हुआ.

हैनिमन के सिद्धांतों के अनुसार एक मरीज के लिए सिर्फ एक दवा ही बेस्ट होती है, बल्कि कहें तो सही होती है. ये बात पोटेंसी फॉर्म की दवाओं पर ही लागू होती है क्योंकि कई मदर टिंक्चर एक साथ मिला कर भी दिये जा सकते हैं. अगर कोई डॉक्टर किसी मरीज के लिए एक दवा नहीं चुन पाता तो वो सपोर्ट के लिए किसी और पोटेंसी में एक या दो दवाएं दे सकता है – लेकिन ये तो बिलकुल ठीक नहीं कि हायर पोटेंसी की कई दवाएं एक साथ मिला कर दे दी जाएं.

होता ये है कि जब मरीज को कोई होम्योपैथिक दवा दी जाती है तो वो अपने तरीके से काम करती है. मरीज के शरीर के अंदर एक छद्म बीमारी जैसी स्थिति पैदा करती है जो कुछ देर के लिए ही होती है. यदि दवा का चयन सही है तो तकलीफ खत्म हो जाती है.

अब मान लीजिए कोई मरीज मॉडर्न मेडिसिन भी ले रहा है और उसे होम्योपैथिक दवा भी दे दी जाती है. ऐसी स्थिति में होम्योपैथिक दवा के काम पर असर पड़ सकता है. कहां एक तरफ उसे एक खास मात्रा में केमिकल की खुराक दी जा रही है – और कहां वैसे ही किसी सोर्स से बनी दवा सूक्ष्म मात्रा में दी जाए. होम्योपैथिक दवा कितनी असरदार होगी कहना मुश्किल है.

कुछ डॉक्टर होम्योपैथिक दवाएं दूसरी दवाओं के साथ लेने के लिए इसलिए भी कह देते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि लोग इसकी वजह से होम्योपैथी से दूर चले जाएंगे. अब दवा लेने के बाद कोई फायदा नहीं हुआ तो फिर क्यों कोई होम्योपैथिक दवाएं लेगा.

बेहतर तो यही होगा कि होम्योपैथिक प्रैक्टिशनर होम्योपैथी में पूरा विश्वास रखें. होम्योपैथी को पहले अच्छी तरह समझें – और फिर इलाज के किसी और तरीके नहीं बल्कि खुद के भरोसे के साथ इलाज करें. जो नतीजा आएगा उससे मरीज तो चंगा होगा ही डॉक्टर भी खुशहाल रहेंगे – और होम्योपैथी को फायदा मिलना तो स्वाभाविक ही है.

[यह लेख रिसर्च और होम्योपैथिक डॉक्टरों से बातचीत पर आधारित है.]

चेतावनी/CAUTION: कृपया योग्य डॉक्टर की सलाह के बगैर कोई दवा न लें. ऐसा करना सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है.

  • होम्योपैथी को लेकर लेटेस्ट पोस्ट से अपडेट रहने के लिए #हैनिमन कैफे के फेसबुक पेज को लाइक करें.
  • ट्विटर के जरिये लेटेस्ट अपडेट के लिए @HahnemannCafé को फॉलो करें.
  • अगर आपको लगता है कि यहां दी गई जानकारी आपके किसी रिश्तेदार, मित्र या परिचित के काम आ सकती है तो उनसे जरूर शेयर करें.
  • अपने सुझाव, सलाह या कोई और जानकारी/फीडबैक देने के लिए हमारा CONTACT पेज विजिट करें.