ज्योतिष की एक प्रमुख पत्रिका में पहले ही पन्ने पर एक श्लोक पढ़ने को मिलता है – साथ ही अंग्रेजी में उसका अर्थ भी दिया गया है. श्लोक का भाव ये है कि ज्योतिष की मदद से सिर्फ संभावनाएं जताई जा सकती हैं – न कि ये कि पक्के तौर पर यही होगा. भला ब्रह्मा के अलावा ये बात कौन बता सकता है कि निश्चित तौर पर क्या होने वाला है?
क्या होम्योपैथी के साथ भी ऐसा है? क्या होम्योपैथी ये विश्वास नहीं दिला पाती कि दवा लेने पर निश्चित रूप से फायदा होगा ही, जैसा कि आधुनिक चिकित्सा पद्धति करती है.

गणित और फलित
ज्योतिष को एक शास्त्र के रूप में मान्यता मिली हुई है. बीएचयू सहित कई उच्च शिक्षण संस्थानों में एकेडमिक रिसर्च तक के इंतजाम हैं. ज्योतिष कितना वैज्ञानिक है या व्यावहारिक इस पर लंबी बहस चली आ रही है – और आगे भी चलती रहेगी जब तक तर्कों पर इसके दावे खरे न उतरें.
एक तबका ऐसा है जो ज्योतिष पर पर आंख मूंद कर भरोसा करता है, तो दूसरा इसकी बात बात पर खिल्ली उड़ाता है. एक तबका और भी है जो सार्वजनिक रूप से तो इसके खिलाफ लंबे चौड़े भाषण देता है – लेकिन अगर वो किसी के बारे में यूं ही सुन ले कि फलां को ज्योतिष के बारे में अच्छी जानकारी है तो वो दौड़ कर उसके पास जाएगा और हाथ फैला कर बैठ जाएगा. भले ही वो शख्स कुंडली देख कर ही कुछ बताने की बात करे, लेकिन वो साहब तब तक दोनों हाथ फैलाए रखेंगे जब तक कि उन्हें कुछ न कुछ बता न दिया जाए. भले ही भविष्यवाणी में सिर्फ इतना ही कहा जाए – आपको यश नहीं मिलता, आप जितने काबिल हैं उतना आपको मिला नहीं – ये सुनकर भी वो पूरे मनोभाव से सुनते रहेंगे.

ज्योतिष की गणनाएं तो गलत नहीं होतीं – और यही बात आलोचकों को चुप करा देती है. सूर्यग्रहण और चंद्रग्रहण लगते तो उसी दिन और उसी वक्त हैं जब उसे कोई अंतरिक्ष विज्ञानी या ज्योतिषी बताता है. ऐसा तो नहीं होता कि ज्योतिषी बाकी त्योहारों की तरह सूर्यग्रहण और चंद्रगहण भी दो-दो दिन बताता हो. असल में, ज्योतिष का गणित पक्ष नहीं, बल्कि उसका फलित पक्ष भ्रम फैलाने में अहम भूमिका निभाता है.

…और होम्योपैथी
क्या होम्योपैथी में भी डॉक्टर ऐसा कहता है कि दवा लेने से पहले विश्वास करो नहीं तो फायदा नहीं होगा – ये तो तंत्र मंत्र वाले कहा करते हैं. अगर ऐसा कोई डॉक्टर कहता है तो या तो उसे होम्योपैथी या फिर खुद पर ही भरोसा नहीं है.
क्या कभी सुना है कि मॉडर्न मेडिसिन देते वक्त कोई डॉक्टर पैरासिटामॉल देने के बाद भी कहे कि इससे बुखार उतर सकता है. या इसे लेने के बाद बुखार उतरने की पूरी संभावना है. नहीं, वो साफ तौर पर कहता है कि इससे बुखार उतर जाएगा. हां, अगर बहुत तेज बुखार है तो हर डॉक्टर कोल्ड पैकिंग की सलाह देता है. होम्योपैथ के डॉक्टर को भी ऐसा साफ साफ कहने में क्या संकोच है.
जलने पर होम्योपैथ का डॉक्टर Urtica Urens देकर क्यों नहीं कहता कि इससे जख्म पूरी तरह ठीक हो जाएगा. चोट लगने पर Arnica Mont, बर्रे और बिच्छू के डंक मारने पर Apis Mel और Ledum Pal भी तो वैसे ही तेज असर दिखाते हैं.

ब्रिटेन का नामी मीडिया प्लेटफॉर्म द इंडिपेंडेंट लिखता है – यूके में होम्योपैथिक प्रैक्टिशनर्स के लिए कोई रेग्युलेशन नहीं है. इसका मतलब कि कोई भी होम्योपैथ के तौर पर प्रैक्टिस कर सकता है, भले ही उसके पास कोई योग्यता या अनुभव नहीं हो.

लेकिन भारत में तो ऐसा नहीं है. मेडिकल की डिग्री के लिए सभी को एंट्रेंस टेस्ट देना होता है. हर किसी को कई साल तक पढ़ाई के बाद डिग्री मिलती है. हर डिग्रीधारी सरकारी नौकरी पाने के योग्य है.
फिर होम्योपैथ के डॉक्टर ऐसा क्यों सोचते हैं कि उनके पास वे ही मरीज पहुंचते हैं जो हर जगह से थके हारे होते हैं. कुछ हद तक ये बात जरूर हो सकती है, लेकिन पूरी सच्चाई यही नहीं है.

लोग परेशान हैं. बीमारी से तकलीफ से इतने परेशान कि कोई भी झाड़ फूंक वाला तक उनसे पैसे ऐंठ लेता है. ऐसे में बहुत जरूरी है कि होम्योपैथिक प्रैक्टिशनर्स खुद पर भरोसा रख कर इलाज करें – और लोगों के अंदर खुद ये विश्वास आने दें कि होम्योपैथी भी उतनी ही फायदेमंद है जितने कि इलाज के अन्य तरीके.
अगर ऐसा ही होता रहा तो होम्योपैथिक प्रैक्टिशनर्स मान सम्मान भले ही ज्योतिषियों और तांत्रिकों जैसा पाने लगें – लेकिन भरोसा हमेशा के लिए खो देंगे. वरना, होम्योपैथी के भी अच्छे दिन आने से कोई रोक नहीं सकता.

चेतावनी/CAUTION: कृपया योग्य डॉक्टर की सलाह के बगैर कोई दवा न लें. ऐसा करना सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है.

  • होम्योपैथी को लेकर लेटेस्ट पोस्ट से अपडेट रहने के लिए #हैनिमन कैफे के फेसबुक पेज को लाइक करें.
  • ट्विटर के जरिये लेटेस्ट अपडेट के लिए @HahnemannCafé को फॉलो करें.
  • अगर आपको लगता है कि यहां दी गई जानकारी आपके किसी रिश्तेदार, मित्र या परिचित के काम आ सकती है तो उनसे जरूर शेयर करें.
  • अपने सुझाव, सलाह या कोई और जानकारी/फीडबैक देने के लिए हमारा CONTACT पेज विजिट करें.