फोड़े-फुंसी तो चाहे शरीर के जिस हिस्से में हों बड़े तकलीफदेह होते हैं – और अगर आंखों को वे अपना कार्यक्षेत्र बना लें फिर तो नींद ही नहीं जीना हराम कर देते हैं.
पलकों पर होने वाली ऐसी ही फुंसियों को बिलनी, गुहेरी या गुहाज्जनी भी कहते हैं. इनकी हर अवस्था बड़ी कष्टकारी होती है – जब निकल आएं, उनमें पस भर आए या फिर फूट कर पस बहने लगे.
आंखों की बिलनी से राहत के लिए ये दवाएं काफी उपयोगी हैं, जिन्हें डॉक्टर की सलाह से लिया जा सकता है.

संभावित दवाएं
1. Belladonna – शुरुआती तौर पर ये सही दवा है, जब फोड़ा लाल और सख्त नजर आ रहा हो.

2. Pulsatilla – जब Belladonna से आराम न मिले. तकलीफ काफी हो, बुखार न हो.

3. Hepar Sulphur – जब फोड़ा बड़ा हो गया हो तो इस दवा को लेना ठीक रहता है. इससे पस बाहर निकल आता है.

4. Silicea – किसी और बीमारी के प्रभाव से ऐसा होता हो तो डॉक्टर अपने विवेक से इसका इस्तेमाल करते हैं.

5. Sulphur – जब ये तकलीफ बार बार होने लगे, तब ये दवा बेहद कारगर साबित होती है. कुछ दिनों के इस्तेमाल से परेशानी से निजात मिल जाती है.

चेतावनी/CAUTION: कृपया योग्य डॉक्टर की सलाह के बगैर कोई दवा न लें. ऐसा करना सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है.

इसे भी पढ़ें:वेट लॉस का बेस्ट फॉर्मूला – मीठी गोलियां और भर पेट भोजन – बस और कुछ नहीं

इसे भी जानें:होम्योपैथी को लेकर भ्रम न पालें, पहले इस्तेमाल करें फिर विश्वास करें

  • होम्योपैथी को लेकर लेटेस्ट पोस्ट से अपडेट रहने के लिए #हैनिमन कैफे के फेसबुक पेज को लाइक करें.
  • ट्विटर के जरिये लेटेस्ट अपडेट के लिए @HahnemannCafé को फॉलो करें.
  • अगर आपको लगता है कि यहां दी गई जानकारी आपके किसी रिश्तेदार, मित्र या परिचित के काम आ सकती है तो उनसे जरूर शेयर करें.
  • अपने सुझाव, सलाह या कोई और जानकारी/फीडबैक देने के लिए हमारा CONTACT पेज विजिट करें.