बार बार डकार आना गैस की मामूली समस्या लगती है, लेकिन ये पेट के अल्सर का भी शुरुआती लक्षण हो सकता है. पेट में अक्सर दर्द और जलन होना और कुछ भी गर्म पीने पर परेशानी बढ़े, फिर तो समझ लेना चाहिये कि अब लापरवाही नहीं चलने वाली. ऐसी तकलीफ होने पर बगैर वक्त गवांए डॉक्टर से संपर्क कर सलाह लेनी चाहिये.

घरेलू उपाय
– बादाम रात भर भिगो कर सुबह चबा चबा कर खाने से राहत मिल सकती है.
– बादाम को पीस कर दूध के साथ भी इस्तेमाल किया जा सकता है.
– ध्यान रहे, दूध गर्म न हो लेकिन बहुत ठंडा भी न हो – सामान्य ही ठीक रहता है.
– साथ ही, दूध में हल्दी मिलाकर भी पीने की सलाह दी जाती है.

एहतियाती उपाय
– अल्सर से बचाव या बीमारी होने की स्थिति में ज्यादा तेल, मसाला और लाल मिर्च वाले खाद्य पदार्थ से परहेज करना चाहिये.
– जंक फूड और कोल्ड ड्रिंक से भी दूरी बनाये रखी जाय तो बेहतर ही होगा.
– मानसिक तनाव से बचने के साथ ही हल्की कसरत या पैदल चलना ठीक रहेगा.

होम्योपैथिक इलाज
अल्सर के इलाज में Robinia और Natrum Phos बड़ी ही असरदार दवाएं हैं. अक्सर इन दोनों के इस्तेमाल से ही मर्ज ठीक हो जाता है. इतने से फायदा न होने पर डॉक्टर की सलाह से आगे की योजना बनायी जा सकती है.
Robinia का मदर टिंक्चर और लोअर पोटेंसी में लेना ठीक रहता है.

दवा कैसे लेनी है
+ Robinia Q : 20-20 बूंद दवा आधा कप पानी में मिलाकर दिन में चार बार लेनी चाहिये.
+ Natrum Phos: 6x 4-4 गोली दिन में चार बार.

आवश्यक है : ध्यान रहे दोनों दवाओं में कम से कम 1/2 घंटे का अंतर रहे.

[ये जानकारी Dr. RS Dubey से Team HC की बातचीत पर आधारित है.]

Also Read These :  

वेट लॉस का बेस्ट फॉर्मूला – मीठी गोलियां और भर पेट भोजन – बस और कुछ नहीं
काले घने और सुंदर बालों के लिए मीठी गोलियों की चार खुराक काफी है

चेतावनी/CAUTION: कृपया योग्य डॉक्टर की सलाह के बगैर कोई दवा न लें. ऐसा करना सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है.

  • होम्योपैथी को लेकर लेटेस्ट पोस्ट से अपडेट रहने के लिए #हैनिमन कैफे के फेसबुक पेज को लाइक करें. ट्विटर के जरिये लेटेस्ट अपडेट के लिए @HahnemannCafé को फॉलो करें.
  • अगर आपको लगता है कि यहां दी गई जानकारी आपके किसी रिश्तेदार, मित्र या परिचित के काम आ सकती है तो उनसे जरूर शेयर करें.
  • अपने सुझाव, सलाह या कोई और जानकारी/फीडबैक देने के लिए हमारा CONTACT पेज विजिट करें.