February 2018
M T W T F S S
« Nov    
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728  

Posts for Category : ब्लॉग

paramedico

हैनिमन कैफे पर लोगों के ज्यादातर सवालों के जवाब दिये जाते हैं, मगर सभी क्यों नहीं

ये कहानी जानने के बाद उन सभी को मालूम हो गया होगा कि उनके सवालों के जवाब अब तक क्यों नहीं मिले और ये यकीन भी हो गया होगा कि जवाब जरूर मिलेंगे. यहां भी देर है, पर अंधेर नहीं. संसाधनों को लेकर हमारी भी कुछ मजबूरियां हैं, मगर कोशिशों में कमी नहीं करते. अब तक हमारे साथ बने रहने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया.

pills

आखिर किसी बीमारी की होम्योपैथिक दवा बताना मुश्किल क्यों है – ये हैं 7 कारण

भट्टी साहब के कटाक्ष के लिए ये टॉपिक तो बेहतरीन रहा, लेकिन इसमें हर होम्योपैथिक डॉक्टर की मजबूरी भी छिपी हुई है और हैनिमन कैफे की भी – क्योंकि एक ही तकलीफ के लिए दो अलग व्यक्तियों के लिए बिलकुल अलग अलग दवाएं हो सकती हैं. कुछ उदाहरणों पर आप भी गौर फरमाइये –

homoeopathy faq

हमारा काम है आगाह करना – मर्जी आपकी, पर मुफ्त में इलाज खतरनाक हो सकता है

हम तो यही मान कर चल रहे थे कि हैनिमन कैफे के पोस्ट से आपको फायदा जरूर होता होगा. अब लग रहा है कि हैनिमन कैफे के पोस्ट के भी कुछ न कुछ साइड इफेक्ट जरूर होते हैं.


self help piles

सेल्फ हेल्प : पाइल्स से छुटकारा पाने वाले एक व्यक्ति की सक्सेस स्टोरी

मैं इलाज से थक चुका था. मैंने डॉक्टर की बतायी सभी सावधानियां बरतीं और दवाएं भी लीं मगर कोई सुधार नजर नहीं आया. दोपहर कम ही खूबसूरत होती है. उस दिन अचानक मुझे एक उपाय सूझी. मुझे अपने बचपन का वाकया याद आया. जब हमलोग बच्चे थे


aconite nap

बीमारियों के खिलाफ होम्योपैथी का FIR है एकोनाइट

मशहूर होम्योपैथ एच सी एलेन लिखते हैं – रोगी को पक्का यकीन हो जाता है कि उसकी बीमारी जानलेवा साबित होगी. अपनी मौत की तारीख तक की भविष्यवाणी कर देता है.


homoeopathic books

होम्योपैथी को समझना चाहते हैं तो ये 5 किताबें जरूर पढ़ें

अगर आप होम्योपैथी का अध्ययन करना चाहते हैं तो हैनिमन कैफे की सलाह है कि वे किताबें पढ़ें जिनमें प्रामाणिक जानकारी हो. होम्योपैथी के आविष्कारक डॉ. सैमुअल हैनिमन के अलावा भी कई एक्सपर्ट ने ऐसी किताबें लिखी हैं.


चाहनेवालों को बहुत बहुत धन्यवाद और डॉक्टर हैनिमन को बधाई!

बहुत लोगों ने अपनी परेशानी भी शेयर की है – और उसके लिए दवा पूछी है. कई लोगों का तो यहां तक कहना है कि वो इलाज कराते कराते परेशान हो गये हैं और थक चुके हैं. हमारे लिए ये बात बहुत महत्वपूर्ण है. हमारी कोशिश है कि हम जल्द से जल्द उनकी मदद के लिए कुछ उपाय कर सकें.


%d bloggers like this: