अगर दाग लगने से कुछ अच्छा हो तो – किसी को दिक्कत क्या है? ‘दाग अच्छे हैं’ – कहने में बुराई क्या है? भले ही ये एक प्रोडक्ट बेचने के लिए स्लोगन हो, लेकिन बात में तो वाकई दम है. इस दुनिया में तो कुछ ऐसी चीजें भी हैं जिन्हें आवश्यक बुराई मानते हुए भी खुले मन से स्वीकार किया जाता है.