April 2018
M T W T F S S
« Nov    
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
30  

Posts for Tag : बनारस

जर्मन रेमेडीज ही क्यों, इंडियन क्यों नहीं?

आपने ध्यान दिया होगा अक्सर होम्योपैथिक फिजीशियन जर्मन रेमेडीज लेने की सलाह देते हैं. इंडियन दवाएं लेने की बात तब होती है जब महंगी जर्मन दवाएं लेना संभव न हो.
तो क्या इंडियन दवाएं ठीक नहीं होतीं. क्या इंडियन होम्योपैथिक रेमेडीज का असर नहीं होता. आइए एक वाकये से इसे समझने की कोशिश करते हैं.

घर में किसी को कुछ तकलीफ थी. डॉक्टर ने जो दवा बताई संयोगवश घर में ही थी.

वर्ल्ड होम्योपैथिक डे – आज कुछ मीठा तो हो ही जाए

बनारस से हम लोग मडुवाडी-दिल्ली एक्सप्रेस में सवार हुए. हम दोनों की नीचे वाली बर्थ थी. ऊपर वाली दोनों बर्थ खाली थी. टीटीई ने बताया कि वो इलाहाबाद का कोटा है. हम लोग खा-पीकर सो गये.

आधी रात को कोटा पूरा होने का वक्त आ गया. जब हमारी नींद खुली तो दो लोग दिखे. एक आदमी सामान भी रख रहा था – और दूसरे सज्जन के लिए बिस्तर भी लगा रहा था.

वर्ल्ड होम्योपैथिक डे की बधाई!

वर्ल्ड होम्योपैथिक डे की हैनिमन कैफे की ओर से बहुत बहुत बधाई. आपके जीवन में इतनी मिठास बनी रहे कि इलाज के लिए मीठी गोलियों की भी जरूरत न पड़े.[पूरा पढ़ें]


%d bloggers like this: